अगर सीएम योगी तक पहुँच गई कर्जमाफ़ी के आंकड़ों की ये तस्वीर तो यूपी में हो सकता है बड़ा बवाल

महात्मा गांधी जी कहते थे कि भारत की आत्मा भारत के गाँवों में बसती है. उनका मानना था कि गांवों का विकास देश के लिए बहुत आवश्यक है. आजादी के बाद गांवों में किसानों की बेहतरी के लिए कोशिशें चलती रहीं लेकिन आज तक भी किसानों की हालत सुधर नहीं पाई. आज जो लिस्ट हम आपको दिखाने जा रहे हैं उसको देखने के बाद आपको भी हैरानगी होगी.

इस लिस्ट में उत्तरप्रदेश के कुछ किसानों को कर्जमाफ़ी के आंकड़े दिखाए गए हैं. आंकड़ों की इस लिस्ट को देखकर आपको पता चल जाएगा कि किसानों के साथ भद्दा मज़ाक किया गया है. लिस्ट में कर्जमाफी के रूप में 9 पैसे से लेकर 377 रूपये तक कर्ज माफ़ किया गया है. इन आंकड़ों को देखकर पता चल जाता है कि नौकरशाही कितनी भ्रष्ट हो चुकी है.

अगर ये आंकड़े सीएम योगी तक पहुंचे होंगे तो उन्हें भी जरुर हैरानी हुई होगी की जिस मकसद से वो cm बने है उसको कितना पूरा किया है उन्होंने। इस लिस्ट को देखने के बाद यही लगता है कि किसानों के साथ भद्दा मज़ाक किया गया है.

इस लिस्ट को देखने के बाद लगता है कि अधिकारियों से कोई न कोई दबाव बन जाने के बाद उन्होंने जल्दबाज़ी में एक लिस्ट जारी कर दी, और अगर ये लिस्ट बिलकुल सही है तो फिर ये बहुत बड़ा सोचनीय विषय है.उत्तर प्रदेश के सीएम को इसपर ध्यान देने की जरुरत है.

SHARE
loading...