इस मुस्लिम लड़के ने कुछ ऐसा करके इतिहास रचा कि पूरी कौम का सर फक्र से ऊँचा हो गया

इस देश में मुस्लिमों की स्तिथि बहुत ही चिंताजनक है क्योकि यहाँ लोग उन्हें देशभक्त नहीं मानते हैं , उनसे देशभक्ति के सबूत मांगे जाते हैं और यहाँ तक कि इस्लाम पर उँगलियाँ उठायीं जाती हैं !

ऐसे माहौल में जहाँ मुस्लिमों के साथ ये सब हो रहा और कोई मुस्लिम इन सबको दरकिनार करके ऐसा सुखद काम करता है तो जाहिर सी बात है कि पूरी कौम उस पर गर्व ही करेगी .

क्या है पूरा मामला…?

खबर यूपी के आजमगढ़ से आरही है ! यहाँ आजमगढ़ के अंदर मुबारकपुर नाम का एक कस्वा है ! यहाँ एक एक बेटे जिसका नाम लाल अबुल कलाम होता है उसने देश के सबसे बड़े और सम्मानित पद आईएएस में चौथा स्थान हासिल किया है .

जब से ये खबर उस इलाके में फैली है वहां का बच्चा बच्चा ऐसे खुश है मानो आज मोहल्ले में ईद का चाँद नजर आया हो !

बताया जा रहा है कि इतना बड़ी सफलता हासिल करने वाले लाल अबुल कलाम मुबारकपुर के यूरानी मोहल्ले के रहने वाले हैं ! इनके पिता का नाम रियाज़ अहमद है और ये अपनी पिता की तीसरी संतान हैं .

ऐसे हुई इनकी शिक्षा पूरी

मीडिया में ऐसा देखने को मिला कि लाल अबुल की प्रारंभिक शिक्षा यतीम खाना मदरसा इस्लामिया अशरफिया से हुई उसके बाद मुबारकपुर के ही इंटर कॉलेज से उन्होंने 10 वीं और 12 वीं की !

इसके बाद शहर में पढाई की व्यवस्था नहीं थी तो वो लखनऊ से बीटेक करने चले गये ! यहीं पर वो इसी पढ़ाई के दौरान अभी २ महीने पहले ही आईएएस की परीक्षा में बैठे थे और उन्हें ऐसी सफलता मिली कि उनका पूरा शहर जश्न मना रहा है !

यहाँ गौर करने वाली बात ये है कि जहाँ यूपी में भाजपा की सरकार है और योगी मुखिया है वो कहते हैं मदरसों में पता नहीं क्या होता है ! वहां शिक्षा नहीं होती ! ये योगी को करारा जवाब है कि मदरसे के अंदर जो पढाई होती है उससे मदरसे में पढने वाले आईएएस तक बन जाते हैं ! बस नजरिया सुधर जाए मुसलमानों के प्रति तो इस देश का मुसलमान देश के लिए क्या क्या नहीं कर सकता है !

SHARE
loading...