मोदी सरकार में लालू के बेटे की जांच होगी लेकिन ‘शाह’जादे की नहीं, जरूर दाल में कुछ काला है : शिवानंद तिवारी

प्रधानमंत्री मोदी पर जय शाह के लेकर विपक्ष का हमला तेज बढ़ता जा रहा हो। अब आरजेडी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने इस मामले पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि जिस तरह से जय शाह मामले पर मोदी सरकार बचाव में उतरी उसे देखकर तो यही लगता है की ज़रूर दाल में कुछ काला है।

जय शाह की बढ़ी सम्पति मामले का ज़िक्र करते हुए शिवानंद तिवारी ने कहा कि भ्रष्टाचार पर जीरो टोलरेंस रखने वाली पार्टी की जब ऐसी बात सामने आती है ऐसे में बचाव करना मुश्किल हो जाता है।

जय शाह ने आनन-फ़ानन में मामले को उजागर करने वाले न्यूज़ पोर्टल पर एक सौ करोड़ रुपये का मानहानि का मामला दायर कर दिया। अब बताया जा रहा है कि इस मामले में भारत सरकार के वक़ील जय साह की क़ानूनी सहायता करेंगे। इन सबसे यह लगता है कि दाल में ज़रूर कुछ काला है।

विपक्ष का सम्मान करते हुए मोदी सरकार को जाँच करवानी चाहिए। मुझे समझ नहीं आता है जांच से परहेज़ क्यों कर रही सांच को आंच क्यों.

देश में सभी के लिए एक क़ानून की संवैधानिक व्यवस्था क्या मोदी सरकार में बदल गई? अमित शाह के बेटे के मामले की जांच नहीं होगी, लेकिन लालू यादव के बेटे के मामले की जांच होगी! यह नहीं चलेगा।

शिवानंद तिवारी ने चेतावनी देते हुए कहा कि जय शाह के मामले पर आरजेडी जांच की मांग करती है।और अगर मोदी सरकार ने जाँच नहीं बैठाई तो हम जनता के बीच जाकर आवाज़ उठाएंगे।

बता दे कि बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के बेटे जय अमित शाह की ओर से एक न्यूज पोर्टल की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि जय शाह की कंपनी के कारोबार में 2014 में बीजेपी के सत्ता में आने के बाद से भारी वृद्धि आई है।

loading...