बीजेपी महिला नेता देवभूमि में सेक्स रैकेट चला रही थी

उत्तराखंड में ह्यूमन ट्रैफिकिंग और सेक्स रैक्ट का बड़ा खुलासा हुआ है। पुलिस ने प्रेमनगर कालोनी क्षेत्र में सेक्स रैकेट का पता लगाते हुए वहां से दो महिलाओं और दो पुरुषों को आपत्तिजनक स्थिति में पकड़ा। पुलिस की इस छापेमारी में सहारनपुर की एक लड़की भी मिली जिसने बताया कि उसे नौकरी का झांसा देकर देह व्यापार में जबरन डाला गया। इस सेक्स रैकेट से सबसे बड़ी बात जो सामने आई वो ये कि इस सेक्स रैकेट को चलानेवाली महिला हेमा रावल बीजेपी की महिला नेता है।

मौजूदा वक्त में हेमा बीजेपी प्रदेश कार्यकारिणी की सदस्य है।

वहीं पिछले दिनों युवा बीजेपी नेता आलमगीर ने हेमा रावल पर ब्लैकमेलिंग का मुकदमा भी दर्ज करवाया था। फिलहाल, मामले को बढ़ता देख बीजेपी ने आनन-फानन में हेमा रावल को छह साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया है।

BJP महिला नेता ने तो नारी समाज को ही शर्म सर करदिया इतने बड़े पद पर होते हुवे भी गाँव की भोली भाली लडकियों को शहर में नोकरी का झांसा देकर देह व्यापार करने पर मजबूर कर रही थी वो भी देवभूमि पर उस की पवित्रता को भी खराब किया है बीजेपी महिला नेता देवभूमि में सेक्स रैकेट चला रही थी।

पुलिस को मौके से मिली एक डायरी में कई और सफेदपोश लोगों के नाम और नंबर भी सामने आए हैं. पुलिस अधिकारियों का कहना है कि कुछ और लोगों की भी छानबीन की जा रही है. इस मामले में कुछ और गिरफ्तारियां भी हो सकती हैं. पुलिस को पिछले लंबे समय से रुड़की के प्रेमनगर मे सेक्स रैकेट चलने की सूचना मिल रही थी.

वहीं, मामले में हेमा रावल का नाम सामने आने के बाद बीजेपी जिलाध्यक्ष डॉक्टर कल्पना सैनी ने कहा कि उन्होंने तत्काल प्रभाव से हेमा रावल की भाजपा से प्राथमिक सदस्यता समाप्त कर दी है और उसे पार्टी से 6 वर्ष के लिए निष्कासित कर दिया है. उन्होंने कहा कि भाजपा एक साफ-सुथरी पार्टी है और ऐसे गलत किस्म के लोगों के लिए पार्टी में कोई जगह नहीं है.

SHARE
loading...